देश

हिंदू राष्ट्र धर्म महासभा में शंकराचार्य ने कहा, सबके विकास में बनें सहभागी, निश्चलानंद को सुनने उमड़ी भक्तों की भीड़

Shankaracharya said in Hindu Rashtra Dharma Mahasabha, become a partner in everyone's development, crowd of devotees gathered to listen to Nischalananda.

पुरी गोवर्धन मठ पीठाधीश्वर शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती धरसींवा विकासखंड में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पंडित लखन लाल मिश्र के ग्राम मुरा में आयोजित हिंदू राष्ट्र धर्म महासभा में शामिल हुए। धर्म सभा में पीठाधीश्वर शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती महाराज ने कहा कि जीविका जीवन के लिए हो, जीविका के लिए जीवन नहीं होना चाहिए। मनुष्य अपने इसी जीवन में अच्छे कर्म कर पुण्य को प्राप्त कर सकते है। कोई भी जाति वर्ण के जो प्रकृति के निवृत्त है, वह सुरक्षित है।
उन्होंने कहा कि समाज को शिक्षा, रक्षा, अर्थ और सेवा के क्षेत्र में सशक्त बनने के साथ ही प्रबुद्ध होने की जरूरत है। सशक्त समाज से ही आने वाले पीढ़ी मजबूत और प्रबुद्ध होगा और कोई भी शब्द बाण से उन्हें गलत मार्ग के लिए विचलित नहीं कर पाएंगे। धर्म महासभा पूर्व आइएएस गणेश शंकर मिश्र के सौजन्य से आयोजित है।
शंकराचार्य महाराज ने कहा कि सनातन धर्म का संबंध परलोक से होता है। सनातन धर्म सबको साथ लेकर चलते है। उन्होंने कहा कि सबको अपने क्षेत्र के विकास के लिए सहभागी बनना चाहिए, पेट और परिवार तक सीमित नहीं होना चाहिए।
उन्होंने भौतिकवादी पर कहा कि विज्ञान और वैज्ञानिकों का शोध और ज्ञान भी वेद शास्त्रों से जुड़ी हुई है। विज्ञान और वैज्ञानिकों को कई वर्षो तक ज्ञान देने की क्षमता वेद और वेदांत में विद्यमान है। गौरतलब है कि ग्राम मुरा में तीन दिवसीय हिंदू राष्ट्र धर्मसभा का आयोजन हो रहा है। इस आयोजन में हजारों की संख्या में लोग पहुंचकर सनातन के रंग में रंग रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button