CRIME

फर्जी IPS बनकर रिक्शा चालक को ठगा, वीडियो कॉल में दिखाई पुलिस की गाड़ी

मध्यप्रदेश के इंदौर से साइबर फ्रॉड का बड़ा मामला सामने आया है। जहां एक युवक ने फर्जी आईपीएस बनकर रिक्शा चालक को ठगी का शिकार बना लिया।मध्यप्रदेश की मिनी मुबंई इंदौर इन दिनों साइबर अपराधियों का नया अड्डा बनता जा रहा है। यहां एक रिक्शा चालक से एक आरोपी ने खुद को आईपीएस अफसर बताकर अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करा लिए। जब चालक को फर्जी आईपीएस ने वीडियो कॉल किया तो उसे शक हो गया। इसके बाद उसने पुलिस थाने जाकर मामले की शिकायत दर्ज कराई।

एडीसीपी जोन-1 आलोक शर्मा के मुताबिक, देवेश शर्मा के पास 31 मई को रैपिडो के जरिए एक बुकिंग आई थी। इसके बाद गुरुवार की दोपहर उसे अनजान नंबर से फोन आया और कहा गया कि मैं आईपीएस अफसर हूं। मैं अर्जेंट ड्यूटी पर जा रहा हूं। मुझे तुम्हारी मदद चाहिए है। भाईजी अस्पताल सदर बाजार से एक मरीज को कालानी नगर छोड़ना है। इसके लिए तुम्हें एक्ट्रा पैसे मिलेंगे। आरोपी ने देवेश से कहा कि मैं तुम्हें आनलाइन 700 रुपए ट्रांसफर करा रहा हूं। 400 रुपए मरीज को देना और 300 रुपए खुद ले लेना। इसके थोड़ी देर बाद ही उसने फर्जी 7000 हजार रुपयों का मैसेज भेजकर कहा कि ये पैसे भी मरीज को ट्रांसफर कर देना। फिर उसने एक और नंबर भेजा जिसमें उसने दो हजार रुपए एक मोबाइल नंबर पर ट्रांसफर करने के लिए कहा।
देवेश ने उसकी बातों में आकर पैसे ट्रांसफर कर दिए। आरोपी ने वीडियो कॉल की डिटेल्स पुलिस से साझा की है। उसने बताया कि आरोपी ने बैकग्राउंड में कच्चा घर और उसके कपड़े देखे तो शक हुआ। इसके बाद उसने फोन काट दिया। इधर, पुलिस का कहना है कि ये राजस्थान का नंबर है। वहीं से फोन आया है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button