आज फोकस मेंक्विक फैक्ट्सजिला समाचारराजनीति

6 अप्रैल 2022।भाजपा 42 वां स्थापना दिवस।सतना।

बसुधा भवन में मनाया गया भाजपा का 42 वां स्थापना दिवस

Bjp 42वां स्थापना दिवस :6 अप्रैल 2022

बसुधा भवन में मनाया गया भाजपा का 42 वां स्थापना दिवस

सतना 6 अप्रैल2022

6 अप्रैल को भारतीय जनता पार्टी का 42 वा स्थापना दिवस समारोह बड़े हर्ष एवं उल्लास के साथ विधानसभा क्षेत्र रैगांव के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के बीच विधानसभा क्षेत्र रैगांव के वरिष्ठ नेता , एवं भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य बीरेंद्र सिंह बीरू की विशेष उपस्थिति में बसुधा भवन भरहुत नगर सतना में पार्टी के झंडे को फहराकर ,, वंदे मातरम गायन के साथ मनाया गया

भाजपा के वरिष्ठ नेता बीरू ने क्षेत्र रैगांव के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को शुभकामनाएं एवं बधाइयां देते हुए कहा,

आज हमारी पार्टी विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी के रूप में स्थापित है। देश की दशा और दिशा बदलने वाली रही भाजपा की राजनीतिक यात्रा!! हमें गर्व है कि हम इस पार्टी के कार्यकर्ता हैं। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हम राष्ट्र निर्माण के पुण्य कार्य में पूर्णता समर्पित है! भाजपा केवल राजनीतिक पार्टी नहीं बल्कि भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए जीवंत मिशन है।

~ bjp वरिष्ठ नेता बीरू

भाजपा के वरिष्ठ नेता बीरू ने क्षेत्र रैगांव के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को शुभकामनाएं एवं बधाइयां देते हुए कहा कि आज हमारी पार्टी विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी के रूप में स्थापित है। देश की दशा और दिशा बदलने वाली रही भाजपा की राजनीतिक यात्रा!! हमें गर्व है कि हम इस पार्टी के कार्यकर्ता हैं। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हम राष्ट्र निर्माण के पुण्य कार्य में पूर्णता समर्पित है! भाजपा केवल राजनीतिक पार्टी नहीं बल्कि भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए जीवंत मिशन है। विचार , व्यवहार और स्वभाव के साथ साथ विचार धारा , संगठन और संघर्ष की सीढ़ियों से चलते हुए संसार का सबसे बड़ा राजनीतिक दल आज हमें बहुत कुछ प्रेरणा देता है। 42 वर्ष पूर्व आज ही के दिन यानी 6 अप्रैल 1980 को अटल बिहारी बाजपेई तथा लाल कृष्ण आडवाणी ने भाजपा की स्थापना की थी । मूल रूप से वैचारिक दृष्टि से स्वतंत्र भारत को नई राजनीतिक दिशा देने के उद्देश्य स्थापित भारतीय जनसंघ के सदस्यों ने मिलकर भाजपा का गठन विधिवत रूप से किया था। इस अवसर पर वरिष्ठ नेता पंडित शालिग्राम शर्मा ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी को अब तक की यात्रा को तीन प्रणामू में बांटा जा सकता है। इसमें पहला देश की एकता और अखंडता के मूल सिद्धांत पर चलते हुए देश को बेहतर विकल्प देने का 1951 का आपातकाल का कालखंड रहा है।
इस अवसर पर प्रमुख रूप से अमन सिंह बरगाही, श्री कृष्ण मिश्र , रघुराज सिंह , दिनेश मोहनिया, दिनेश विश्वकर्मा , मुन्ना सिंह , रामनिवास पाल ,राम नरेश यादव , दिवाकर बागरी एवं मुन्नी चौधरी सहित अनेक वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

@progressofindia123gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button