आज फोकस मेंक्विक फैक्ट्सजिला समाचार

MP Rain: सीएम शिवराज ने की बाढ़ प्रभावित जिलों की समीक्षा, राहत एवं बचाव कार्य को तेज करने के दिए निर्देश

मध्यप्रदेश में लगातार बारिश से कई जिलों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ प्रभावित जिलों की समीक्षा की और अधिकारियों से जानकारी ली।

मध्यप्रदेश में लगातार बारिश से कई जिलों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ प्रभावित जिलों की समीक्षा की और अधिकारियों से जानकारी ली। मौसम विभाग के रेड अलर्ट को देखते सीएम ने अधिकारियों को राहत एवं बचाव कार्य तेज करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को बचाव कर निकाले गए लोगों की समुचित व्यवस्था के निर्देश दिए। साथ ही राहत कैंप में भोजन समेत सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। वहीं, उन्होंने अतिवृष्टि या प्रभावित स्थानों में फंसे लोगों को फूड पैकेट बांटने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने मौसम विभाग के अगले 24 घंटे में कई जिलों में भारी बारिश और बाढ़ प्रभावित इलाकों के प्रभावित स्थानों से लोगों को निकालने के रेस्क्यू ऑपरेशन को तेज करने के निर्देश दिए।

सीएम को अधिकारियों ने बताया कि एसडीआरएफ, एनडीआरएफ की टीमें प्रभावित इलाकों में मौजूद हैं, जिला प्रशासन और होमगार्ड के जवान भी बोट के द्वारा रेस्क्यू में लगे हुए हैं। हेलीकाप्टर से भी लोगों को निकाला जा रहा है। गांवों को चिन्हित कर लगातार लोगों का रेस्क्यू जारी है।

अधिकारियों ने बताया कि नर्मदा नदी में अब जलस्तर स्थिर हो रहा है। बेतवा नदी में भी तेजी से जल स्तर सामान्य हो रहा है। भोपाल, नर्मदापुरम संभाग में आज सामान्य बारिश और बूंदा-बांदी की स्थिति रहेगी। मुख्यमंत्री ने विदिशा, रायसेन, राजगढ़ कलेक्टर से विस्तृत चर्चा कर जानकारी ली। सीएम ने प्रत्येक गांव जहां पानी है, जो राहत कैंप बनाए हैं उनकी जानकारी ली। विदिशा में पेयजल की व्यवस्था को दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने गुना जिला प्रशासन और ग्वालियर कमिश्नर से फोन पर चर्चा कर गुना और आस पास के प्रभावित क्षेत्रों की जानकारी ली है। पार्वती के कैचमेंट एरिया में बसे गांवों के लोगों को सतर्क रहने और वहां प्रशासन द्वारा स्थिति की निरंतर समीक्षा के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि अतिवृष्टि और प्रभावित क्षेत्रों में फंसे लोगों को शाम से पहले रेस्क्यू करें।

भोपाल की स्थिति की जानकारी जिला प्रशासन और मंत्री विश्वास सारंग द्वारा दी गई। भोपाल में अतिवृष्टि से हुए बिजली के मेजर फाल्ट, बिजली इन्फ्रास्ट्रक्चर को हुए नुकसान को तेजी से ठीक करने के निर्देश दिए गए। विषम परिस्थितियों में पूरी रात बिजली आपूर्ति बहाल करने में जुटे रहे बिजली कर्मचारियों, सड़कों पर पड़े पेड़ों को हटाने में, अवरुद्ध मार्गों को ठीक करने में नगर निगम के कर्मचारी जुटे रहे।

चंबल, पार्वती और सिंध नदी में पानी के बढ़ रहे संभावित स्तर को लेकर भिंड, मुरैना, श्योपुर को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। अतिवृष्टि से हुए फसल नुकसान, सड़क, पुलिया सहित अन्य नुकसान की जानकारी शीघ्र मुख्यमंत्री कार्यालय को देने के निर्देश दिए गए। बैठक में मंत्री विश्वास सारंग, सीएस, डीजीपी, एसीएस राजौरा, एसएन मिश्रा, पीएस मुख्यमंत्री सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Report

Progress of india news

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button