mp news

जीतू पटवारी ने बढ़ते अपराध पर बीजेपी को घेरा, कहा- चुनाव में भाजपा के दावों की निकली हवा

Jitu Patwari cornered BJP on increasing crime, said- BJP's claims in elections have been blown away

भोपाल। राजधानी भोपाल स्थित कांग्रेस कार्यालय में पीसीसी चीफ जीतू पटवारी ने  प्रेस कांफ्रेंस की। पटवारी ने कहा कि प्रदेश में अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है।  रेप, मर्डर, के मामले सामने आ रहे हैं। पटवारी ने कहा- भोपाल के स्कूल में 8 साल की बच्ची से दुष्कर्म हुआ। उसका संचालक बीजेपी से जुड़ा है। इसलिए बुलडोजर की बात नहीं की जा रही, और कोई होता तो अब तक उसका घर टूट चुका होता।

उन्होंने कहा कि 3 महीने पहले विधानसभा मे बड़ी हार के बाद पूरी कांग्रेस ने एकजुटता से चुनाव लड़ा। नतीजे डबल डिजिट में सीटें आ जाएं तो आश्चर्य मत करना। अब हमारा काम संगठन को मजबूत करना है। हमारी क्या कमियां हैं उनमें सुधार करेंगे। साथ ही उन्होंने संगठन में बड़े बदलाव के भी संकेत दिए है। उन्होंने कहा कि हम 3-4 बार चुनाव हारे, हर चीज के लिए भाजपा को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते। हम में भी कमियां हैं, आने वाले 3-4 साल उन्हें ठीक करेंगे।

पटवारी ने कहा कि प्रदेश में चौथे चरण के चुनाव आते-आते भाजपा का 29 पार का नारा गायब हो गया। इसी तरह भाजपा ने हर पोलिंग पर 375 मत बढ़ाने की जो बात की थी। मतदान के पहले चरण में ही 35 फीसदी बूथों पर इसकी हवा निकल गई।

जीतू पटवारी ने कहा कि मोहन यादव को 5 महीने में 5 पत्र लिखे। उनसे पूछा कि आपके पास क्या क्राइम रोकने की कोई योजना है। आप गृहमंत्री का पद छोड़ दो, आपसे जिम्मेदारी नहीं संभल रही। जहां से मुख्यमंत्री आते हैं वहां छोटी-बड़ी 13 घटनाएं हो चुकी हैं। शहडोल में माफिया लगातार हमारे जांबाज अधिकारी कर्मचारियों की हत्या कर रहे है ।

साथ ही पीएम मोदी पर भी निशाना साधते हुए जीतू पटवारी ने कहा कि झूठ और मोदी जी एक दूसरे के पर्याय हैं। प्रधानमंत्री हमारे भी पीएम हैं मोदी जी ने कांग्रेस के 5 न्याय और 25 गारंटी पर कहा था कि कांग्रेस आपका मंगल सूत्र छीन लेगी, इसकी दुनिया मे आलोचना हुई। फिर उन्होंने कहा कि मनमोहन सिंह ने कहा था कि इस देश की संपत्ति पर पहला हक मुसलमानों का है। देश के प्रधानमंत्री ने इतना बड़ा झूठ बोला। प्रधानमंत्री सिर्फ नफरत और घृणा पर चुनाव चाहते हैं। उन्होंने 10 साल के कामों के बजाय कांग्रेस के न्याय पत्र पर चुनाव में चर्चा की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button