राज्य

आपरेशन अमानत: दो करोड़ का सामान लौटाकर यात्रियों को दी राहत

Operation Amanat: Gave relief to passengers by returning luggage worth two crores

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे सुरक्षा बल यात्रियों की सुरक्षा के साथ उनका सहयोग भी कर रहा है। आपरेशन अमानत के तहत आरपीएफ ने यात्रियों के गुम व छूटे सामान को चोरों की नजर पड़ने से पहले अपने कब्जे में लेकर सुरक्षित लौटाया। बिलासपुर, रायपुर व नागपुर रेल मंडल को मिलाकर 10 महीने में आरपीएफ ने दो करोड़ रुपये मूल्य के सामान यात्रियों को लौटकर उनके मायूस चेहरे पर खुशियां दी। यात्रियों की सुविधा दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसके लिए अलग-अलग अभियान भी चलाए जाते हैं। आपरेशन अमानत भी इसी का हिस्सा है।
आरपीएफ द्वारा चलाए जाने वाले इस अभियान के तहत यात्रियों के गुम व ट्रेन में छूटे सामान को सुरक्षित लौटाया जाता है, ताकि यात्री निराश न हों। ट्रेनों में प्रतिदिन बड़ी संख्या में यात्री सफर करते हैं। कई बार हड़बड़ी में सामान ट्रेन में ही भूल जाते हैं। सामान गुम होने का मामला भी सामने आता है। उनके छूटे सामान को पहुंचाने और गुम हुए सामान की रिकवरी के लिए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में रेलवे सुरक्षा बल द्वारा इस अभियान की शुरुआत की गई है। वर्तमान वित्तीय वर्ष 2023-24 के 10 महीनों में 960 यात्रियों के गुम व छूटे हुए सामान की रिकवरी कर उसे संबंधित यात्रियों को सौंपने का कार्य किया है। कुल सामान दो करोड़ रुपये से भी अधिक मूल्य के हैं।
बिलासपुर, चांपा, कोरबा, उसलापुर, रायगढ़, ब्रजराजनगर, पेंड्रारोड, अनूपपुर, शहडोल, मनेंद्रगढ़, बिजुरी, अंबिकापुर, भाटापारा, तिल्दा-नेवरा, रायपुर, दुर्ग, भिलाई, राजनांदगांव, डोंगरगढ़, गोंदिया, भंडारारोड, इतवारी, नैनपुर, छिंदवाड़ा, वडसा, नागभीड़, कामटी।
सफर के दौरान यदि सामान गुम हो गए या छूट गए तो रेलवे ने इसकी जानकारी देने के लिए कई माध्यम की व्यवस्था की है। वह शिकायत ट्रेनों में टीटीई, रेल सुरक्षा बल या ट्रेन मैनेजर, स्टेशनों में स्टेशन मास्टर व संबंधित रेल कर्मियों के पास दर्ज करा सकते हैं। यही नहीं, यात्री रेल मदद एप, हेल्पलाइन नंबर 139, इंटरनेट मीडिया के माध्यम से भी अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं। शिकायत मिलने पर संबंधित ट्रेन, स्टेशन व अन्य आरपीएफ़ पोस्ट में इसकी सूचना दी जाती है और संबंधित प्राधिकार सामान को रिकवर करने के लिए जुट जाते हैं। बहुत कम ऐसा होता है, जब यात्रियों को उनका सामान नहीं उपलब्ध हो पाता। शत-प्रतिशत सूचना पर आरपीएफ का प्रयास रहता है कि यात्रियों को मूल्यवान सामान मिल जाए। इस तरह की सूचना पर लापरवाही न बरतने का भी आदेश दिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button